केन्द्रीय बजट 2019-20 के मुख्य बिंदु (भाग-2)

July 7, 2019

कर प्रत्यक्ष कर

इज़ ऑफ़ डूइंग बिज़नेस में कर भुगतान की श्रेणी में भारत का स्थान 2017 में 172वां था, 2019 में भारत 121वें स्थान पर पहुँच गया है। पिछले पांच वर्षों में भारत के प्रत्यक्ष कर राजस्व में 78% की वृद्धि हुई है और यह 11.37 लाख करोड़ रुपये हो गया है।

टैक्स स्लैब

400 करोड़ रुपये तक वार्षिक टर्नओवर वाली कंपनियों के लिए कर की दर को कम करके 25% किया गया है।

जिन लोगों की कर योग्य आय 2 करोड़ रुपये से 5 करोड़ रुपये तथा इससे अधिक है, उनके लिए सरचार्ज में वृद्धि की जायेगी।

जिन लोगों के पास पैन नंबर नहीं हैं, वे आधार के द्वारा भी इनकम टैक्स रीटर्न फाइल कर सकते हैं।

स्टार्ट-अप्स के लिए राहत

जांच : स्टार्ट-अप्स को प्राप्त हुई फंडिंग की जांच के लिए आयकार विभाग की आवश्यकता नहीं है।

स्टार्टअप में निवेश के लिए आवासीय घर के विक्रय से प्राप्त पूंजीगत लाभ के लिए मिलने वाली छूट की अवधि को 2021 बढ़ा दिया गया है।

सस्ते आवास : 45 लाख रुपये तक के मूल्य के घर की खरीद के लिए 1.5 लाख रुपये का लाभ मिलेगा।

विद्युत् वाहनों को बढ़ावा : विद्युत् वाहनों की खरीद को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने ग्राहकों को आयकार में 1.5 लाख की छूट देने की घोषणा की है। विद्युत् वाहनों के कई पुर्जों के सीमा शुल्क में भी छूट दी गयी है।

अप्रत्यक्ष कर

मेक इन इंडिया : सीमा शुल्क

ऑप्टिकल फाइबर केबल, CCTV कैमरा, वाहन के पुर्जे, PVC, टाइल, मार्बल स्लैब इत्याद पर 5% बेसिक कस्टम ड्यूटी लगाई गयी है।

फैटी आयल, पाम स्टियेरिन इत्यादि पर सीमा शुल्क छूट को समाप्त कर दिया गया है।

सोने तथा अन्य बहुमूल्य धातुओं पर सीमा शुल्क को बढ़ा दिया गया है।

भारत में निर्मित नहीं किये गये रक्षा उपकरणों को बेसिक कस्टम ड्यूटी से छूट दी गयी है।

पेट्रोल तथा डीजल पर स्पेशल एडिशनल एक्साइज ड्यूटी तथा सड़क व अधोसंरचना सेस में 1-1 रुपये की वृद्धि की गयी है।

केन्द्रीय बजट 2019-20 के मुख्य बिंदु (भाग-1)

July 8, 2019

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल ही में केन्द्रीय बजट 2019-20 संसद में प्रस्तुत किया, इस बजट के मुख्य बिंदु निम्नलिखित हैं :

दशक के लिए 10-बिन्दुओं वाला विज़न

  1. जन भागीदारी : देश के विकास के लिए “मिनिमम गवर्नमेंट मैक्सिमम गवर्नेंस”।
  2. अन्तरिक्ष : गगनयान तथा चंद्रयान की लॉन्चिंग, अन्य अन्तरिक्ष तथा उपग्रहीय कार्यक्रम।
  3. पर्यावरण : प्रदूषण-मुक्त भारत के लिए प्रयास करना।
  4. खाद्यान्न, दाल, फल तथा सब्जी उत्पादन में आत्म-निर्भरता प्राप्त करना तथा निर्यात को प्रोत्साहन।
  5. डिजिटल इंडिया : डिजिटल इंडिया को अर्थव्यवस्था के प्रत्येक सेक्टर तक पहुँचाना।
  6. भौतिक तथा सामाजिक अधोसंरचना का निर्माण।
  7. जल : जल, जल प्रबंधन तथा नदियों की सफाई।
  8. नीली अर्थव्यवस्था।
  9. स्वास्थ्य : आयुष्मान भारत के द्वारा स्वस्थ समाज का निर्माण।
  10. मेक इन इंडिया के तहत स्टार्टअप्स, सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योग, रक्षा विनिर्माण, इलेक्ट्रॉनिक्स, ऑटोमोबाइल, बैटरी तथा मेडिकल उपकरणों के निर्माण को बढ़ावा देना।

पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था की ओर अग्रसर

चालू वित्त वर्ष (2019-20) में भारत 3 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएगी, सरकार का उद्देश्य भारत को 5 ट्रिलियन (खरब) की अर्थव्यवस्था बनाना है।

इसके लिए अधोसंरचना, डिजिटल अर्थव्यवस्था में निवेश की ज़रुरत है तथा सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योग में रोज़गार सृजन को बढ़ावा दिए जाने की ज़रुरत है।

MSME के लिए उठाये गये कदम

प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना

पेंशन लाभ : 1.5 करोड़ रुपये से कम के सालाना टर्नओवर वाले खुदरा व्यापारियों तथा छोटे दुकानदारों को पेंशन लाभ मिलेगा, इससे 3 करोड़ से अधिक लोग लाभान्वित होंगे।

इस योजना का लाभ उठाने के लिए केवल आधार कार्ड तथा बैंक खाते की आवश्यकता होगी।

इंटरेस्ट सबवेंशन स्कीम के तहत MSME के लिए वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 350 करोड़ रुपये आबंटित किये गये हैं।

MSME के लिए बिल फाइलिंग तथा भुगतान के लिए भुगतान प्लेटफार्म तैयार किया जायेगा।

अधोसंरचना

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (NCMC): इस कार्ड का उपयोग देश के सभी सार्वजनिक परिवहन माध्यमों में किया जा सकता है, इस कार्ड का उपयोग मेट्रो, बस, उपनगरीय रेलवे, टोल तथा पार्किंग के भुगतान के लिए किया जा सकता है, यह किसी क्रेडिट अथवा डेबिट कार्ड की भाँती कार्य करता है।

जल मार्ग विकास प्रोजेक्ट : इस परियोजना के तहत गंगा नदी की नौसंचालन क्षमता में वृद्धि की जायेगी।

गंगा जलमार्ग : अगले चार वर्षों में गंगा नदी में कार्गो वॉल्यूम में चार गुणा वृद्धि करने का लक्ष्य रखा गया है।

रेलवे : 2018-30 के बीच रेलवे में 50 लाख करोड़ रूपये के निवेश की आवश्यकता होगी। अब तक भारत में 657 किलोमीटर का मेट्रो रेल नेटवर्क कार्यशील हो चुका है।

विद्युत् वाहन : FAME (Faster Adoption and Manufacturing of (Hybrid &) Electric Vehicles) स्कीम के दूसरे चरण में तीन वर्षों के लिए 10,000 करोड़ रुपये मंज़ूर किये गये हैं। विद्युत् वाहनों को बढ़ावा देने के लिए सरकार विद्युत् वाहनों की खरीद तथा चार्जिंग अधोसंरचना के विकास के लिए इंसेंटिव भी प्रदान करेगी।

उर्जा : “वन नेशन, वन ग्रिड” के तहत सभी राज्यों को रियायती दरों पर विद्युत् प्रदान की जायेगी।

भारत और अन्तरिक्ष

हाल ही में न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) का उद्घाटन बंगलुरु में किया गया, यह भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) की वाणिज्यिक शाखा है। यह अन्तरिक्ष टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में निजी उद्यम को बढ़ावा देगी। यह तकनीक हस्तांतरण मैकेनिज्म के द्वारा स्माल सैटेलाइट लांच व्हीकल (SSLV) तथा PSLV के विकास व उत्पादन का कार्य करेगी। यह वैश्विक वाणिज्यिक SSLV मार्केट की मांग को पूरा करने महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।

6 मार्च, 2019 को अन्तरिक्ष विभाग ने इसरो ने अपनी दूसरी इकाई NSIL का पंजीकरण किया था। अन्तरिक्ष विभाग का पहला वाणिज्यिक वेंचर एंट्रिक्स कारपोरेशन लिमिटेड था, इसकी स्थापना सितम्बर, 1992 में की गयी थी। NSIL के द्वारा इसरो के अनुसन्धान व विकास कार्य का वाणिज्यीकरण किया जाएगा। NSIL को 100 करोड़ रुपये की शेयर कैपिटल प्रदान की गयी है, इसे 10 करोड़ रुपये की पेड-अप कैपिटल प्रदान की गयी है।

श्रीलंका में भारत की सहायता से निर्मित पहले आदर्श गाँव का उद्घाटन किया गया

July 7, 2019

श्रीलंका में भारत की सहायता से निर्मित पहले आदर्श गाँव का उद्घाटन किया गया। यह उद्घाटन श्रीलंका के गामपाहा के रानिदुगामा में किया गया। यह एक आवासीय परियोजना है, यह योजना युद्ध प्रभावित लोगों तथा बागानों में कार्य करने वाले लोगों के लिए हैं। इस योजना के तहत पूर्ण रूप से निर्मित घर लाभार्थियों को सौंपे गये।

ब्राज़ील ने जीता कोपा अमेरिका 2019 का खिताब

July 7, 2019

ब्राज़ील ने कोपा अमेरिका 2019 का  खिताब अपने नाम कर लिया है, फाइनल में ब्राज़ील ने पेरू को 3-1 से पराजित किया। ब्राज़ील की ओर से रिचार्लिसन, गेब्रियल जेसुस तथा एवर्टन ने 1-1 गोल किया, पेरू के लिए एकमात्र गोल पी. गरेरो ने किया। यह ब्राज़ील का 9वां कोपा अमेरिका ख़िताब है।

BSF ने लांच किया ऑपरेशन सुदर्शन

July 7, 2019

BSF ने बड़े स्तर पर ऑपरेशन सुदर्श लांच किया है, इसका उद्देश्य पाकिस्तान के साथ लगती सीमा पर “घुसपैठ रोधी ग्रिड” को मज़बूत करना है। इस ऑपरेशन को 1 जुलाई को लांच किया गया था, यह 15 दिन के बाद समाप्त होगा।

उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने किया “विवेकदीपनी” पुस्तक का विमोचन

July 7, 2019

भारत के उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू ने हाल ही में “विवेकदीपनी” नामक पुस्तक का विमोचन किया है। इस पुस्तक में आदि शंकराचार्य द्वारा लिखी गयी सूक्तियों का संकलन है।